OTP क्या होता हे और Full Form क्या हे?

तो दोस्तों आज हम इस पोस्ट मे जाने की OTP क्या हे इसकी fullform क्या हे और ये कहाँ कंहा यूज़ करते हे . तो आइये दोस्तों जानते हे.
OTP full form

OTP क्या होता हे :-

OTP का Full FormOne Time Password” होता हे , तो दोस्तों हमें इसके Full Form से ही पता चल रहा हे की ये क्या हे . तो दोस्तों यह एक ऐसा Password जो सिर्फ एक बार ही use किया जा सकता है. यह  OTP Code 4 से लेकर 8 अंको का . जेसे की ये हमारे आम जीवन मे बैंकिंग Banking transaction , Login, Online Verification , Ticket Booking या Online Shopping आदि के बाद Payment करना होता है तब उपयोग मे आता हे. जिसके लिए घर बैठे सुविधा का लाभ उठाया जाता है तो इसके लिए हमें online payment की सुविधा का लाभ लेना होता हे तो जेसे की Net Banking, Mobile Banking, BHIM, Paytm, Debit Card या Credit Card से Payment कर सकते हैं. यदि हमारे सिर्फ ATM Password से Payment हो जाये तो क्या होगा. इसीलिए Online Payment करते समय OTP Number की जरूरत होती है. यह एक Sms के रूप में आपके Registered मोबाइल नंबर पर आता है OTP Verification किये बिना हम किसी भी अकाउंट से पेमेंट नहीं कर सकते है.

OTP हमें तीन प्रकार से प्राप्त होता है:-

1. मैसेज के द्वारा:- यह हमारे मोबाइल नंबर पे sms के द्वारा प्राप्त होता है और ज्यादातर वेबसाइट इसी का उपयोग करती है, क्योंकि यह समझने में काफी आसान होता है.
2. कॉल के द्वारा:- यह हमारे रजिस्टर मोबाइल नम्बर पर एक call आता है और उसमें आपको password बोल कर बताया जाता हे. यह वेरिफिकेशन गूगल के online वेरिफिकेशन मे जरुर नजर आएगा.
3. ई-मेल के द्वारा:- इसमें OTP आपकी registered ई-मेल ID पर generate कर भेजा जाता है. जो की मेल के अंदर दिया होता हे taxt के रूप मे.

OTP कितने Types के होते हे :-

OTP मूलरूप से 3 प्रकार ( types ) के होते हे.

A. Hard token OTP Type:-

1. R.S.A. secure ID Based OTP.
2. Yubi key Based OTP.
3. H.M.A.C. Based OTP.
4. Print  Based OTP.

B. Soft token OTP:-

1. Mobile authenticator  ( मोबाइल प्रमाणक ).

C. Without Token OTP:-

1.    Passive key Based OTP.
2.    Help desk Based OTP.
3.    Voice calling Based OTP.
4.    Sms text Based OTP.
5.    Email Based OTP.

OTP से क्या फायेदा होता है ? :-

1. OTP से हमारा सभी account जैसे Google account, net banking account, bank account इत्यादि सभी सुरक्षित रहते हैं.
2. OTP की खासियत ये है की इससे जो code generate होता है उसका इस्तेमाल सिर्फ एक ही बार किया जा सकता है और वो सिर्फ कुछ समय के लिए ही valid रहता है अगर उस समय के अन्दर हमने code का इस्तेमाल नहीं किया तो फिर वो code हमारे लिए किसी काम का नहीं रहता. मतलब की हम जितनी बार भी online transactions करेंगे ये उतनी ही बार अलग अलग code generate होगा. जिससे हमारा account लगभग पूरी तरह से secure होकर रहता है.

ऑटीपी से नुकसान क्या है ?:-

1. OTP मे E-Mail ओटीपी verification अन्य किसी भी otp verification से कम सुरक्षित होता है.
2. OTP लगाने पर सीधा पेमेंट होना कम पढ़े लोगों को भी परेशानी हो सकती हैं या कोई उनसे मोबाइल ले कर otp का गलत इस्तेमाल कर सकता है.
3. मोबाइल अगर गुम हो जाता है तो आपका कोई बड़ा नुकसान हो सकता है.
4. कई बैंक के पैसे transfer पर सिर्फ ऑटीपी का इस्तेमाल होता है जो कि इतना ज्यादा secure system नहीं है.

OTP में क्या-क्या सावधानिया बरतें:-

OTP मे हम लोगो को कुछ important बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि आपके मोबाइल जिस पर otp कोड आता हो उसे किसी के भी साथ शेयर ना करें. यदि मोबाइल कहीं गुम हो जाता है या चोरी हो जाता है तो तुरंत अपने पास ही के police स्टेशन व अपने बैंक में इसकी जानकारी दें ताकि कुछ समय के लिए आपके accounts को lock किया जा सके जिससे की आपका कोई बड़ा नुकसान होने से बच सकतें हैं और आपके account का गलत फायदा कोई ना उठा सकें. आपके पास जब भी कोई otp आता है तो उसे किसी के साथ share ना करें और उसे अपने काम में लेने के बाद delete कर दें ताकि आप अधिक secure हो सकें और कोई बड़े हैकर से  भी आसानी से बच सकते हैं.

Post a Comment

0 Comments